इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें

चंद्र शांति के उपाय ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा मन का और सुंदरता का कारक है। जब किसी जातक की कुंडली में चंद्रमा शुभ फल देता है, तो उसके जीवन में हर तरह से खुशियां आती हैं एवं सुख शांति रहती है। किंतु वही चंद्रमा अगर कुंडली में पीड़ित अवस्था में आ जाए तो  जीवन में भटकाव, मानसिक परेशानी, स्ट्रेस, माता के स्वास्थ्य मैं परेशानी आदि समस्याएं आने लगती है। अनेक प्रयत्न करने पर भी जातक के जीवन में स्थिरता नहीं आती। ऐसे अशुभ व पीड़ित अवस्था में पड़े चंद्रमा को मजबूत करने एवं उसके अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए चंद्र ग्रह शांति के उपाय अवश्य करने चाहिए।

अपनी जन्म कुंडली से जाने आपके 15 वर्ष का वर्षफल, ज्योतिष्य रत्न परामर्श, ग्रह दोष और उपाय, लग्न की संपूर्ण जानकारी, लाल किताब कुंडली के उपाय, और अन्य जानकारी, अपनी जन्म कुंडली बनाने के लिए यहां क्लिक करें।

चंद्र ग्रह से संबंधित कई उपाय हैं, जिन्हें करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। यदि आप चंद्र के अशुभ प्रभाव से पीड़ित हैं तो नीचे दिए गए उपाय अवश्य करें। यह सभी आजमाए हुए फलित उपाय है।

  1. अनिष्ट चंद्रमा की शांति के लिए पूर्णिमा व्रत सहित चंद्र-मंत्र का विधिवत अनुष्ठान करना चाहिए।
  2. चंद्रमा को मजबूत करना हो तथा धन प्राप्ति की इच्छा हो तो मोती युक्त चंद्र यंत्र गले में धारण करना चाहिए।
  3. सोमवार का व्रत 5 या 11 बार रखना चाहिए।
  4. शिवजी का पूजन करना, अमरनाथ जी की यात्रा या पूजना करना।
  5. द्वादश ज्योतिर्लिंगों की यात्रा करना या पूजन स्थल पर उनकी तस्वीरें लगाकर उनकी पूजा करना।
  6. चावल, चांदी, दूध आदि का दान करना।
  7. दूधिया रंग का मोती धारण करना, मोती के अभाव में शुद्ध चांदी धारण करना।
  8. दूध का बर्तन रात को सिरहाने रख कर सुबह कीकर के वृक्ष में वह दूध डालना।
  9. माता या घर की बुजुर्ग औरतों का आशीर्वाद लेना।
  10. चारपाई के पायों में चांदी की कील गाड़ना।
  11. चंद्र निर्बलता में कैल्शियम की विशेष कमी हो जाती है। अतः उसका सेवन बहुत हितकर होता है।
  12. दुर्गा सप्तशती का पाठ चंद्र सहित सभी ग्रहों की अनुकूलता दायक एवं सिद्धिप्रद होता है।
  13. शमशान भूमि में स्थित कुएं पर कभी-कभी स्नान करना या चावल व चांदी शमशान की चारदीवारी के अंदर छोड़ना।
  14. पानी की टंकी की निरंतर सफाई करते रहना, घर में कहीं भी गंदा या सड़ा हुआ पानी एकत्रित ना होने देना।
  15. सीढ़ियों के सामने हैंडपंप या पानी का कोई भी स्रोत ना लगाना।
  16. चंद्र पीड़ा की विशेष शांति हेतु चांदी, मोती, शंख, शीप, कमल और पंचगव्य मिलाकर सात सोमवार तक स्नान करना।
  17. पंचधातु के शिवलिंग का निर्माण करके उसका यथा-योग्य पूजन करने से चंद्र पीड़ा शांत होती है।
  18. चंद्र पीड़ित को प्रदोष, सावन सोमवार का व्रत अवश्य ही रखना चाहिए।
  19. नियमित शिव मंदिर जाकर शिवजी का दर्शन एवं पूजन अर्चन करना।
  20. नियमित शिव चालीसा का पाठ करना।
  21. पंचमुखी रुद्राक्ष को पूजा के स्थान पर रखकर उसकी नियमित पूजा करना।
  22. ॐ नमः शिवाय” मंत्र का नित्य जाप करना।
  23. रजत पात्र में रात को जल भरकर सुबह उठकर उस जल को पीना।
  24. हर सोमवार को बबूल के झाड़ में दूध चढ़ाना।
  25. घर की छत के नीचे  कुआँ या हैंडपंप ना लगाना।
  26. तीन सफेद पुष्प प्रति सोमवार या पूर्णिमा को कुआँ या बहती नदी में प्रवाहित करना।
  27. घर में सप्तधातु का श्रीयंत्र स्थापित करके उसके सामने श्री सूक्त के मंत्रों का नियमित पाठ करना
  28. केतु के साथ चन्द्र हो तो गणपति जी की उपासना लाभकारी होती है।

इस तरह आप चंद्र ग्रह की शांति के उपाय करके चंद्र ग्रह की शांति कर सकते है. कुंडली में दूसरे ग्रहों की शांति के उपाय जानने के लिए हमारी ग्रहों की शांति के उपाय की सूची को देखिये

आप हमसे हमारे सोशल मीडिया पर भी जुड़ सकते है।
Facebook – @kotidevidevta
Youtube – @kotidevidevta
Instagram – @kotidevidevta
Twitter – @kotidevidevta

नवग्रह के रत्न और रुद्राक्ष से जुड़े सवाल पूछने के लिए हमसे संपर्क करें यहाँ क्लिक करें

अपनी जन्म कुंडली से जाने आपके 15 वर्ष का वर्षफल, ज्योतिष्य रत्न परामर्श, ग्रह दोष और उपाय, लग्न की संपूर्ण जानकारी, लाल किताब कुंडली के उपाय, और अन्य जानकारी, अपनी जन्म कुंडली बनाने के लिए यहां क्लिक करें।

नवग्रह के नग, नेचरल रुद्राक्ष की जानकारी के लिए आप हमारी साइट Gems For Everyone पर जा सकते हैं। सभी प्रकार के नवग्रह के नग – हिरा, माणिक, पन्ना, पुखराज, नीलम, मोती, लहसुनिया, गोमेद मिलते है। 1 से 14 मुखी नेचरल रुद्राक्ष मिलते है। सभी प्रकार के नवग्रह के नग और रुद्राक्ष बाजार से आधी दरों पर उपलब्ध है। सभी प्रकार के रत्न और रुद्राक्ष सर्टिफिकेट के साथ बेचे जाते हैं। रत्न और रुद्राक्ष की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें
Gyanchand Bundiwal
Gyanchand Bundiwal

Gemologist, Astrologer. Owner at Gems For Everyone and Koti Devi Devta.

Articles: 472